भोजन में शाक भाजी का स्थान || Healthy food

भोजन में शाक , तरकारियाँ अमृत का कार्य करती है| शाक , तरकारियाँ , दूध और फल रक्षात्मक भोजन बनाते है | इन्हीं का हमारे शरीर को उचित अवस्था में रखने में प्रमुख हाथ रहता है | शाक तरकारियो में लवण व क्षार की मात्रा अधिक रहती है | फल हमारे शरीर में क्षार की मात्रा की अभिव्रधि करते और अम्लता कम करते हैं | वस्तुतः “ शरीर में क्षार की मात्रा बढ़ाना और अम्लता कम होना यही स्वास्थ्य संरक्षण का रहस्य है | ” शाक – भाजी के विषय में ये बाते याद रखिए –






कम से कम पकाइए , छिलकों सहित खाने का अभ्यास कीजिये | छिलकों में ताकत होती है जैसे – गाजर , खीरा , ककड़ी , बैंगन इत्यादि को छिलकों सहित खाइए |


  बार - बार उबलना और फिर भून लेना हानिकारक होता है | इससे शाक भाजी के विटामिन नष्ट हो जाते है |


उबली हुई तरकारियों का पानी मत फेकिये | उबले हुए पानी में ही पोष्टिक तत्व  आकर विनष्ट होते है |

पत्ती वाली सब्जियां जैसे पालक , मेथी , बथुआ , मूली आदि सब्जी रक्त को साफ करती है, इससे मनुष्य का स्वास्थ्य ठीक और चेहरा खिला – खिला रहता है | इन्हें खूब खाइए |


भोजन में नीबू का स्थान महत्वपूर्ण है | यकृत , आमाशय और आंत के समस्त रोग इस अमृत फल से दूर होते है | प्रातःकाल जल के गिलास में नीबू के रस डालकर पीने से पेट साफ रहता है संतरा , अनार , अंगूर , मोसमी ये रसीले फल गुणकारी होते है | 

अखरोट , बादाम , मूंगफली , काजू , पिस्ते , खोपरा , इत्यादि फल हमें अच्छी चिकनाई देते है प्रकृति स्वयं हमारे हित की चिंता रखती है और लाभ के अनुसार ही फलों को उत्पन्न करती हैं |

गन्ने का रस हाजमा के लिए एक ईश्वरीय वरदान है | और जो व्यक्ति अधिक शारीरिक और मानसिक परिश्रम करते है , उन्हें शक्ति के लिए उचित मात्रा में दूध लेना चाहिए | दूध से कई प्रकार के स्वास्थ्य वर्धक लाभ प्राप्त होते है |

11 views
  • Twitter
  • Facebook

©2020 by e-healthshiksha