Abdominal heating for healthy body | ehealthshiksha.com

सेंकना बड़ी ही सरल क्रिया है ; किन्तु इसकी शक्तियां बड़ी ही अद्भुत है | अनेक जटिल दिखने वाले रोगों पर सेंकने का बड़ा ही अच्छा प्रभाव पड़ता है | चोट आने पर सेंक देने से रक्त का संचार पुनः तीव्र हो जाता है और दर्द विलुप्त या पूरी तरह से समाप्त हो जाता है | इसमें मालिश और सेंक सबसे अधिक लाभप्रद होते हैं पेट को सेंकने से पाचन प्रणाली को सहायता मिलती है और पेट दर्द दूर हो जाता है |

सेंक न की क्रिया का प्रभाव समझ लीजिये | रक्त के संचार में जब किसी कारण रूकावट उत्पन्न उत्पन्न हो जाती है , तो सेंक उसे पुनः तीव्र कर देता है | फोड़े फुंसियो को भी गर्म जल द्वारा सेंकने से बड़ा लाभ होता है | थके हुए नेत्रों को गर्म पानी से सेंकने पर शरीर में स्फूर्ति उत्पन्न होती है | नेत्र - स्वास्थ्य के लिए सेंक अनुपम साधन है | खांसी में गला सेंकने से विशेष लाभ होता है | गला बैठ जाने पर भी सेंक कर आवाज खोली जा सकती है | हॉकी , फुट बॉल इत्यादि खेल खेलने या कूदने फांदने में यदि कहीं मोच आ जाय , तो उसे सेंक कर ठीक करना चाहिए | अंदर के दर्द भी सेंक करने से ठीक होती है | सेंक से रक्त का परिभ्रमण तीव्र तर हो जाता है | रक्त संचालन यथोचित रीति से होने पर अंग का दर्द स्वयं ठीक हो जाता है | जल चिकित्सा के अंतर्गत पेडू का स्थानीय गर्म सेंक बहुत लाभदायक प्रयोग है , इसे अंग्रेजी में (Abdominal heating pack) कहते हैं |




टी . बी . में छाती सेंकना सफलतापूर्वक व्यवहार में लाया जाता है | पुरानी खांसी तथा फेफड़ो की सूजन में गर्म सेंक का प्रयोग विशेष लाभदायक पाया जाता है |

गर्म जल में निचोड़े हुए कपड़े या गर्म जल की बोतल से त्वचा में उष्णता लाना वाष्प स्नान का काम देता है | इस सेंक के लिए मोटी फलालेन या ऊनी कपड़ा अच्छा है | जल को उबलता हुआ रखने के लिए बाल्टी या बर्तन को थोड़े से जलते हुए कोयलों पर रख कर तापक्रम स्थिर रखें सदैव त्वचा पर सूखा कपड़ा रख कर फोमेंटेशन दें | जहाँ सेंक करना हो वहाँ नारियल के तेल या वैसलीन को भी रगड़ दें |

मालिश का प्रधान कार्य रक्त को ह्दय की ओर गतिमान करना है | जिस स्थान की मालिश की जाती है , वहाँ संघर्षण द्वारा रक्त की तीव्रता में वृधि की जाती है | रक्त फेफड़ो में शीघ्रता से जाकर स्वच्छ होता है | उसके विकार दूर हो जाते हैं | भारत में लोग प्रायः थकान मिटाने के लिए ही मालिश का प्रयोग करते हैं किन्तु इससे सूजन , झटका , चोट , मोच इत्यादि भी सफलतापूर्वक दूर की जा सकती है |

  • Twitter
  • Facebook

©2020 by e-healthshiksha