natural therapy | ehealthshiksha.com

मिट्टी के उपयोग द्वारा स्वास्थ्य सुधार में हमें बहुत सहायता मिल सकती है | उस लाभ से वंचित न रहना चाहिए | निर्दोष पवित्र भूमि पर नंगे पावों टहलना चाहिए | जहाँ हरियाली छोटी - छोटी घास उग रही हो वहाँ टहलना तो और भी अच्छा है | सोने के लिए यदि मुलायम जमीन पर बिस्तर लगाया जाय तो बड़ा अच्छा है | ऐसा न हो सके तो चारपाई को जमीन से बहुत ऊँचा न रखकर जमीन के समीप रखना चाहिए , जिससे भूमि से निकलने वाली वाष्प अधिक मात्रा में प्राप्त होती रहे |


पहलवान लोग चाहे , वे अमीर ही क्यों न हों रुई के गद्दों पर कसरत करने के बजाय मुलायम मिट्टी के अखाडों में ही व्यायाम करते हैं ; ताकि मिट्टी के अमूल्य गुणों का लाभ उनके शरीर को प्राप्त होता रहे |


आजकल साबुन से स्नान करने का फैशन चल पड़ा है ; परन्तु मिट्टी का प्रयोग साबुन की अपेक्षा हजार दर्जे अच्छा है | साबुन में पड़ने वाला कास्टिक सोडा त्वचा में खुश्की पैदा करता है और रोम कूपों को रोकता है ; किन्तु मिट्टी में यह बात नहीं है | वह मैल को दूर करती है , तरावट लाती है , रोम कूपों को स्वच्छ करती है , विष को खींचती है और त्वचा को कोमल ताजा , चमकीली एवं प्रफुल्ल्ति कर देती है | मिट्टी शरीर पर लगाकर स्नान करना एक अच्छा उबटन है , गर्मी के दिनों में उठने वाली मरोड़ीयां और फुंसियाँ इससे दूर हो जाती है | सिर के बालों को मुल्तानी मिट्टी से धोने का रिवाज अभी तक मौजूद है | इससे मैल दूर होता है बाल काले मुलायम और चिकने रहते हैं तथा मस्तिष्क में बड़ी तरावट पहुंचती है | अशुधी के हाथ साफ करने के लिए मिट्टी ही प्रयोग में आनी चाहिए | बर्तन आदि साफ करने के लिए तो इससे अच्छी और कोई चीज है ही नहीं |





बीमारीयों में मिट्टी का प्रयोग गीली मिट्टी की पट्टी के रूप में करना चाहिए | साफ स्थान का कचरा - कूड़ा , कंकड़ आदि से रहित चिकनी मिट्टी चिकित्सा कार्य के लिए अच्छी होती है | कौन - सी मिट्टी अच्छी है कौन - सी खराब है इसके लिए अधिक परेशान होने की जरूरत नहीं है | अपने आस - पास के किसी साफ स्थान से सूखी मिट्टी ले लेनी चाहिए | यह जितनी चिकनी होगी उतनी ही अच्छी है | बालू , रेत या बिखर जाने वाली भुसभुसी मिट्टी ठीक नहीं होती | चूल्हा पोतने के काम में जिस मिट्टी को स्त्रियाँ काम में लाती हैं वह है | मुल्तानी मिट्टी जो सिर धोने के काम आती है और गेरू खडिया आदि बेचने वाले पंसारियों के यहाँ मिलता है वह भी अच्छी है | मिट्टी को कूटकर महीन करके फिर उसे चलनी में छान लेना चाहिए , जिससे यदि उसमें कूड़ा , कचरा , कंकड़ आदि हो तो वह निकल जावें |


6 views
  • Twitter
  • Facebook

©2020 by e-healthshiksha